भाषा अध्ययन एवं अनुवाद संकाय

इस संकाय के अंतर्गत भाषा एवं अनुवाद विभाग और अनुवाद ब्यूरो का संचालन किया जा रहा है। आज की रोजगारोन्मुख एवं प्रतिस्पर्धात्मक स्थिति को देखते हुए हिंदी भाषा को एक नवीन दृष्टि और दिशा देना महत्त्वपूर्ण हो जाता है, चाहे वह भाषा का सैद्धांतिक दृष्टिकोण हो या अनुप्रयोगात्मक क्षेत्र अथवा अभियांत्रिकी या प्रौद्योगिकी पक्ष, इनसे जुड़े बिना आज हिंदी का समुचित विकास तथा संवर्धन संभव नहीं हो सकता। इस अवधारणा को केन्द्र में रखते हुए हिंदी को अंतरराष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करने के लक्ष्य प्राप्ति हेतु भाषा एवं अनुवाद विभाग की स्थापना की गई है। भाषा एवं अनुवाद विभाग के अंतर्गत आवश्यकतानुरूप अद्यतन विभागीय प्रयोगशाला की स्थापना भी की जा रही है।

भाषा एवं अनुवाद विभाग


विभाग के मुख्य उद्देश्य

  • विभिन्न ज्ञान अनुशासनों में अनुवाद प्रक्रिया का विकास करना।
  • अनुवाद के माध्यम से अंग्रेजी एवं अन्य विदेशी भाषाओं तथा भारतीय भाषाओं की शिक्षण सामग्री को हिंदी में बदलना।
  • हिंदी से विदेशी एवं भारतीय भाषाओ में यंत्रानुवाद की प्रक्रिया का विकास करना।
  • विदेशी एवं भारतीय भाषाओं मे हिंदी दुभाषिये तैयार करना।
  • अनुवाद को वर्तमान सांस्कृतिक, सामाजिक एवं प्रयोजनपरक प्रविधियों से जोड़ते हुए उसके व्यावहारिक पक्ष को विकसित करना।
  • भारतीय एवं वैश्विक परिदृश्य में हिंदी को अनुवाद के माध्यम से सम्पन्न भाषा बनाना।
  • अनुवाद अनुशासन को विदेशी और द्वितीय भाषा शिक्षण में एक प्रमुख उपकरण के रूप में विकसित करना।
  • प्रतीकांतरण (Inter Semiotic Translation) का फिल्म, दूरदर्शन, आकाशवाणी एवं रंगमंच आदि में विकास करना।

भाषा अध्ययन एवं अनुवाद संकाय

नवीन सूचनाएँ

28 अक्टूबर
2020
06 अक्टूबर
2020
29 सितंबर
2020
अधिक पढ़ें