राष्ट्रीय मतदाता दिवस

                      राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह

        दिनांक 25.01.2019 को अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय में मनाया गया राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह।

        "हम, भारत के नागरिक लोकतंत्र में अपनी पूर्ण आस्थाव रखते हुए यह शपथ लेते हैं कि हम अपने देश की लोकतांत्रिक परम्पराओं की मर्यादा को बनाए रखेंगे तथा स्वतंत्र, निष्पकक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण़्ता  रखते हुए, निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।" मतदाता दिवस पर हिंदी विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों, अधिकारियों और छात्रों ने यह शपथ ली।

        अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय में शुक्रवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर मतदान के लिए प्रेरित करने वाली एक डॉक्युयमेंट्री फिल्मा दिखाई गई। इस मौके पर कार्यक्रम के नोडल अधिकारी प्रो. प्रज्ञेश कुमार अग्रवाल ने जानकारी दी कि वर्ष 2011 से राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जा रहा है। इस अवसर पर विश्वविद्यालय में मतदाता जागरूकता फोरम का गठन किया गया जिसके सदस्य, विद्यार्थियों और आसपास के रहवासियों को मतदान के लिए जागरूक करने के साथ उनकी मतदान संबंधी समस्यासओं का निराकरण करेंगे।

                                

        कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज ने अपने उद्बोधन में कहा कि जिन राज्यों में जागरूकता ज्यादा है वहां मतदान का प्रतिशत भी अधिक है। उन्होंने कहा कि मत का प्रभावित होने से प्रजातंत्र का स्वरूप खंडित होता है। अभाव और प्रभाव से मुक्त मतदान लोकतंत्र को मजबूत बनाता है। प्रो. भारद्वाज के अनुसार मतदान हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी और कर्तव्य है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर विश्वविद्यालय में "आदर्श मतदान केन्द्र" विषय पर चित्रकला विभाग के स्टूडेट्स ने पेन्टिंग की जिसे दर्शकों द्वारा सराहा गया। इसके अलावा स्लोगन प्रतियोगिता के साथ नैतिक मतदान- बिना लालच, संप्रदाय और जातिवाद के मतदान विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने अपना पक्ष पुरजोर तरीके से रखा | इसी क्रम में सुगम एवं समावेशी मतदान, मतदान की अनिवार्यता, भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतन्त्र, मतदान एक राष्ट्रीय कर्तव्य, राष्ट्र निर्माण में मतदाता जागरूकता विषयों पर निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने भाग लिया । कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. एस. के. पारे के अलावा प्रो. एस. डी. सिंह के साथ समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे ।

                     

 

नवीन सूचनाएँ

09 दिसंबर
2019
अधिक पढ़ें